Aatmanirbhar Gujarat Sahay Yojana | योजना की पूरी जानकारी

Aatmanirbhar Gujarat Sahay Yojana: मुख्यमंत्री ने गुजरात के लोगों के लिए एक आत्मनिर्भर गुजरात सहायता योजना की घोषणा की है। घोषणा के बारे में, मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने कहा, “हम सभी छोटे दुकानदारों या रिक्शा चालकों के लिए 1 लाख रुपये तक के ऋण की घोषणा कर रहे हैं, जिसमें 2 प्रतिशत पर 15 प्रतिशत बाजार हित है।” 1 लाख रुपये तक का ऋण केवल आवेदन के आधार पर दिया जाएगा। 2% ब्याज सालाना देना होगा। शेष 6 प्रतिशत ब्याज का भुगतान राज्य सरकार द्वारा किया जाएगा। तीन साल के बाद 3% ब्याज देना होगा।

Aatmanirbhar Gujarat Sahay Yojana
  • गुजरात सरकार ने आत्मनिर्भर गुजरात सहायता योजना की घोषणा की
  • राज्य के 10 लाख से अधिक लोग योजना से लाभान्वित होंगे
  • कारीगरों और व्यापारियों को 1 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाएगा

गुजरात सरकार ने Government आत्मानबीर गुजरात ’योजना की घोषणा की है। इस योजना से राज्य के 10 लाख से अधिक लोग लाभान्वित होंगे। कारीगरों और व्यापारियों को 1 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाएगा। इस ऋण पर ब्याज 12 प्रतिशत के बजाय केवल 2 प्रतिशत लिया जाएगा। बिना किसी गारंटी के आवेदन के आधार पर 1 लाख रुपये तक के ऋण उपलब्ध होंगे।

छोटे व्यापारियों को 6 प्रतिशत पर ऋण

राज्य सरकार छोटे व्यापारियों को 6 प्रतिशत ब्याज देगी। छह महीने तक कोई किश्त नहीं चुकानी होगी। सहकारी बैंक भी मदद के लिए तैयार हो गए हैं। अगर पैसा उनके हाथ में आ जाए तो लोग आत्मनिर्भर हो सकेंगे। यह सिस्टम गुजरात के हर कोने में बनाया जाएगा।

Aatmanirbhar Gujarat Sahay Yojana

Aatmanirbhar Gujarat Sahay Yojana के मुख्य बाते:

  • राज्य के 10 लाख से अधिक लोग योजना से लाभान्वित होंगे
  • कारीगरों और व्यापारियों को 1 लाख रुपये तक का ऋण दिया जाएगा
  • ऋण 12 प्रतिशत के बजाय केवल 2 प्रतिशत पर उपलब्ध होगा
  • आवेदन के आधार पर 1 लाख रुपये तक के ऋण दिए जाएंगे
  • राज्य सरकार छोटे व्यापारियों को कर्ज पर 6 प्रतिशत ब्याज देगी
  • छह महीने तक कोई किश्त नहीं चुकानी होगी
  • सहकारी बैंक भी मदद के लिए तैयार हो गए हैं

Also Read: Check NREGA Job Card List 2020 & Download MGNREGA Job Cards

Also Read: Manav Garima Yojana Details | Online Form and How to Apply? (मानव गरिमा योजना विवरण | ऑनलाइन फॉर्म और आवेदन कैसे करें?)

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने मंगलवार को अपने राष्ट्रीय संबोधन के दौरान आत्मनिर्भर भारत के साथ 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की।

इस संबंध में, रूपानी सरकार ने एक आत्मनिर्भरता योजना की भी घोषणा की।

योजना के बारे में अधिक जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि यह योजना 3 वर्षों के लिए होगी।

यह योजना 220 शहरी सहकारी बैंकों और 18 जिला सहकारी बैंकों में चालू होगी। क्रेडिट सोसाइटी भी योजना में शामिल होगी।

सरकार एक घोषणा करके अपने नियमों और अन्य मामलों की घोषणा करेगी।

Post a Comment

Previous Post Next Post